Tuesday, October 18, 2011

देखा जो हुस्ने यार तबियत मचल गई 
आँखों का था कुसूर छुरी दिल पे चल गई